स्टैंड अप इंडिया स्कीम के लिए अप्लाई

स्टैंड अप इंडिया स्कीम के लिए अप्लाई कैसे करें?

देश के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और महिला कारोबारियों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा स्टैंड अप इंडिया स्कीम चलाई जा रही है।

स्टैंड अप इंडिया स्कीम (STANDUP Scheme) के तहत एससी, एसटी, ओबीसी और महिला कारोबारियों को 10 लाख से 1 करोड़ तक का बिजनेस लोन दिया जाता है। आपको बता दें कि स्टैंड उप योजना में नया कारोबार शुरु करने के लिए बिजनेस लोन दिया जाता है।

मोदी सरकार का यह प्रयास है कि अपने देश में अधिक से अधिक संख्या में स्वरोजगार हो जिससे एक तो लोगों को खुद से काम और कमाई का जरिया मिलेगा दूसरी चीज यह है कि इससे देश की आर्थिक विकास भी होगा।

केन्द्र सरकार द्वारा लोगों को स्वरोजगार के लिए बढ़ावा देने के लिए आर्थिक सहायता के रुप में बिजनेस लोन की कई सरकारी योजना चलाई जा रही है। मुद्रा लोन योजना और स्टैंड इंडिया अप लोन योजना प्रमुख सरकारी लोन योजना हैं।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

logo
बेहद कम कागजी दस्तावेज प्रक्रिया

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं

logo
बिना कुछ गिरवी रखें

5 लाख सालाना टर्नओवर कारोबार के लिए

logo
सिर्फ 3 दिन के भीतर लोन मिलेगा

घर बैठे आपके बैंक अकाउंट में

logo
6 महीने बाद प्री-पेमेंट फ्री

आसान किश्तों में वापस करें

स्टैंड अप इंडिया लोन में मुख्य लाभ

सरकारी लोन योजना के तहत संचालित हो रही स्टैंड अप इंडिया लोन योजना में देश के अनुचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और महिला कारोबारियों को नया बिजनेस शुरु करने के लिए बैंक के माध्यम से 10 लाख से 1 करोड़ तक का बिजनेस लोन मिलता है।

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना के लिए इस कागजों की जरूरत पड़ती है

  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, निवास प्रमाण पत्र इत्यादि में से कोई एक होना चाहिए)
  • जाति प्रमाण पत्र (महिलाओं के लिए जाति प्रमाण पत्र की जरूरत नही होती है)
  • बिजनेस का पता प्रमाण पत्र (जिस जगह का बिजनेस शुरु करना है उसका पता)
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज का 2 फोटो
  • बैंक खाता का विवरण
  • नवीनतम आयकर रिटर्न (ITR कॉपी)
  • रेंट एग्रीमेंट (यदि किराए पर व्यावसायिक परिसर है तब)
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीयरेंस प्रमाण पत्र (जरुरत हो तो)
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट (परियोजना दस्तावेज – इसमें यह दिखाना होगा कि आप स्टैंड अप इंडिया लोन का कैसे उपयोग करेंगे)

स्टैंड अप इंडिया सब्सिडी इतनी मिलती है

स्टैंड अप इंडिया लोन योजना में जो 10 लाख से 1 करोड़ रुपये तक का बिजनेस लोन मिलता है वह स्टैंड अप इंडिया सब्सिडी अंतर्गत मिलता है। स्टैंड अप इंडिया सब्सिडी के तौर पर लोन को चुकाने में अधिक समय सकता है और 3 से 5 साल तक बिजनेस लोन ब्याज मुक्त भी हो सकता है। दोनों ही सब्सिडी में से कोई भी मिल सकता है।

स्टैंड अप इंडिया सब्सिडी कितनी मिलेगी या क्या सब्सिडी मिलेगा इसका पता तभी चलता है जब कारोबारी बैंक में जाकर पता करते हैं। स्टैंड अप इंडिया सब्सिडी सरकार के निर्देशों के अनुसार बैंक अपने नियमों के अनुसार देते हैं।

अन्य सरकारी योजनायें

क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम (CGTMSE)
प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना

बुनियादी समस्याओं का हल

star star star star star
राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

star star star star star
कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया क्योंकि ZipLoan को लोन के बदले कुछ गिरवी रखने की जरूरत नही थी। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 5 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?