पैन कार्ड स्टेटस जानें | यूटीआई वेबसाइट पर पैन या कूपन नंबर द्वारा पैन कार्ड स्टेटस कैसे जानें

परमानेंट अकाउंट नंबर (पैन) एक दस अंकों का अल्फान्यूमरिक आइडेंटिफायर (पहचानकर्ता) है। इसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा जारी किया जाता है। प्रत्येक ऐसेसी (ACC) यानी व्यक्ति, फर्म, कंपनी आदि को एक अद्वितीय पैन जारी किया जाता है।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

logo
बेहद कम कागजी दस्तावेज प्रक्रिया

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं

logo
बिना कुछ गिरवी रखें

5 लाख सालाना टर्नओवर कारोबार के लिए

logo
सिर्फ 3 दिन के भीतर लोन मिलेगा

घर बैठे आपके बैंक अकाउंट में

logo
6 महीने बाद प्री-पेमेंट फ्री

आसान किश्तों में वापस करें

पैन कार्ड कौन बनवा सकता है?

सभी मौजूदा ऐसेसी (ACC)- करदाता (टैक्सपेयर्स) या व्यक्ति, जिन्हें इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करना आवश्यक है। व्यक्ति भले ही किसी दूसरे की ओर से आईटीआर फाइल कर रहे हो, लेकिन उनके पास पैन होना अनिवार्य है।

इसके अतिरिक्त कोई भी व्यक्ति जो 50 हजार से अधिक आर्थिक या वित्तीय लेनदेन करना चाहता है तो भी उसके लिए पैन कार्ड अनिवार्य हो जाता है। इसके साथ ही व्यक्ति अपनी पहचान साबित करने के लिए भी पैन कार्ड का प्रयोग कर सकता है।

पैन कार्ड में एक मुख्य प्रयोग बैंकिंग सेक्टर के लोन प्रोसेस में होता है। जब कोई कारोबारी बिजनेस लोन या एमएसएमई लोन के लिए अप्लाई करता है तो उसे पैन कार्ड डिटेल्स अनिवार्य रुप से देना होता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि पैन नंबर से ही सिविल क्रेडिट स्कोर की जाँच होती है।

पैन कार्ड का स्टेटस के बारें में जानकारी प्राप्त करना

पैन कार्ड बनवाने के लिए अप्लाई करने के बाद लोग जानना चाहते हैं कि पैन कार्ड स्टेटस क्या है? लोग जानना चाहते हैं कि पैन कार्ड स्टेटस मोबाइल नंबर से चेक हो सकता है या नहीं हो सकता है।

कई लोग इस लिए परेशान रहते हैं कि पैन कार्ड स्टेटस चेक कैसे होता है। लेकिन अच्छी बात यह है कि पैन कार्ड का स्टेटस चेक किया जा सकता है।

वर्तमान में पैन कार्ड एक आवश्यक कागजात बन चुका है। पैन कार्ड का उपयोग खुद की पहचान साबित करने में किया जाता है और 50 हजार से अधिक लेन – देन करना हो तो पैन अनिवार्य बन जाता है।

जिन लोगों के पैन कार्ड नहीं होता है वह लोग पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं। पैन कार्ड के लिए अप्लाई करने के बाद लोग पैन बना या नहीं बना यानी पैन कार्ड एप्लीकेशन स्टेटस जानने के लिए उत्सुक रहते हैं।

आपको जानकरी के लिए बता दें कि पैन कार्ड एप्लीकेशन स्टेटस जानना बहुत आसान है। जब भी कोई व्यक्ति पैन कार्ड के लिए अप्लाई करता है तो उसे एक फॉर्म जमा होने की एक रसीद मिलती है। उस रसीद पर एप्लीकेशन नंबर दर्ज होता है।

जब पैन कार्ड स्टेटस का जानना हो तो यूटीआई पोर्टल या एनएडडीएल पोर्टल पर एप्लीकेशन नंबर एंटर करके पैन कार्ड स्टेटस जाना जा सकता है।

इस तरह जानिए पैन कार्ड स्टेटस

व्यक्ति जब पैन कार्ड के लिए जब आवेदन करता है तब उसे आवेदन पत्र जमा करने की एक रसीद मिलती है। उस रसीद पर यह दर्ज होता है कि व्यक्ति ने कब पैन कार्ड के लिए आवेदन किया है और आवेदन क्रमांक यानी एप्लीकेशन नंबर क्या है।

जो एप्लीकेशन नंबर मिलता है उसे के अनुसार पैन कार्ड एप्लीकेशन स्टेटस जाना जाता है। बहुत से लोग इस बारें में पूछताछ करते हैं कि पैन कार्ड स्टेटस मोबाइल नंबर से जाना जा सकता है या नहीं जाना जा सकता है।

आपको जानकरी के लिए बता दें कि पैन कार्ड स्टेटस पैन एप्लीकेशन नंबर या रसीद नंबर से ही पता किया जा सकता है। बिना रसीद नंबर या एप्लीकेशन नंबर के पैन कार्ड स्टेटस नहीं जाना जा सकता है। यानी पैन कार्ड स्टेटस सिर्फ मोबाइल नंबर से नहीं जाना जा सकता है।

पैन कार्ड स्टेटस जानने के लिए इन स्टेप्स को फ़ॉलो करें

पैन कार्ड स्टेटस जानने का तीन मुख्य तरीका है:

रसीद नंबर (ACKNOWLEDGEMENT NUMBER) द्वारा पैन कार्ड स्टेटस जानना

एकनॉलेजमेंट नंबर से पैन कार्ड का स्टेटस जानने के लिय सबसे पहले SNDL की वेबसाइट लॉग इन करना होता है। वेबसाइट ओपन करने का लिंक है https://tin.tin.nsdl.com/pantan/StatusTrack.html इस लिंक पर क्लिक करने के बाद Track your PAN/TAN Application Status दिखेगा।

Track your PAN/TAN Application Status के ठीक नीचे दो बॉक्स दिखेगा। एक बॉक्स में एप्लीकेशन टाइप सलेक्ट करना होता है और दूसरे बॉक्स में एकनॉलेजमेंट नंबर भरना होता है।

एकनॉलेजमेंट नंबर भरने के बाद कैप्चा कोड भरना होता है। कैप्चा कोड भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर देना होता है। सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपके सामने आपका पैन स्टेटस सामने आ जायेगा।

कूपन नंबर के द्वारा पैन कार्ड स्टेटस जानना

अगर आपके पास कूपन नंबर है तो आपको सबसे पहले यूटीआई वेबसाइट लॉग इन करना होता है। वेबसाइट लॉग इन होने के बाद ट्रैकिंग पेज पर क्लिक करना होता है।

टेकिंग का पेज आप आप इस लिंक http://www.trackpan.utiitsl.com/PANONL.NE/#forward पर सीधे क्लिक करके भी ओपन कर सकते हैं।

ट्रेकिंग पेज ओपन होने के बाद आवेदन कूपन नंबर या पैन नंबर डालें इसके बाद कैप्चा कोड डालें और सबमिट बटन पर क्लिक कर दें। जैसे हो आप सबमिट बटन पर क्लिक करते वैसे ही आपके सामने आपका पैन एप्लीकेशन स्टेटस दिखाई देने लगता है।

बिना रसीद नंबर के पैन कार्ड स्टेटस इस तरह से जाना जाता है

कभी – कभी ऐसा होता है कि लोग पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं लेकिन पैन आवेदन पत्र जमा करने की पर्ची गलती से कहीं ऐसी जगह पर रख देते हैं जहां से पर्ची मिलती नहीं है। ऐसे में जब पर्ची नहीं मिलती है तब पैन आवेदन संख्या भी का भी पता नहीं चलता है। तो क्या ऐसे में पैन कार्ड का स्टेटस जाना जा सकता है?

जी हां ऐसी भी स्थिति में पैन कार्ड का स्टेटस जाना जा सकता है। आयकर विभाग के TIN-NSDL संस्था ने ऐसी व्यवस्था कर रखी है कि आप अपने रसीद नंबर के बिना भी अपने पैन कार्ड का स्टेटस जान सकते हैं।

जब पैन कार्ड आवेदन की रसीद नहीं होती है तब नाम और जन्मतिथि के द्वारा पैन कार्ड का स्टेटस जाना जा सकता है। बिना रसीद नंबर के पैन कार्ड का स्टेटस जानने के लिए सबसे पहले TIN-NSDL की वेबसाइट लॉग इन करें।

वेबसाइट डायरेक्ट ओपन करने के लिए इस लिंक https://tin.tin।nsdl.com/pantan/StatusTrack.html_bkp24052013 पर क्लिक करें। वेबसाइट ओपन होने के बाद निम्न प्रोसेस को फ़ॉलो करें:

सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपके आपके पैन कार्ड का स्टेटस दिखने लगेगा। इस तरह देखा जाये तो आप सामने अपना पैन कार्ड स्टेटस जानने के लिए कई विकल्प मौजूद हैं। इनमें से किसी एक विकल्प का प्रयोग कर आप अपना पैन कार्ड स्टेटस जान सकते हैं।

बुनियादी समस्याओं का हल

star star star star star
राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

star star star star star
कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया क्योंकि ZipLoan को लोन के बदले कुछ गिरवी रखने की जरूरत नही थी। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 5 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?