केवीआईसी लोन स्कीम - खादी और ग्रामोद्योग आयोग

देश में रोजगार की संख्या बढ़ाने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। रोजगार सृजन के क्रम में केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) चलाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) कार्यक्रम के तहत खादी और ग्रामोद्योग आयोग इस बात को लेकर पूर्ण रुप से कांफिडेंट हैं कि मार्च 2020 तक देश में 14 लाख नये रोजगार का सृजन हो सकेगा।

खादी ग्रामोद्योग आयोग द्वारा ग्रामीण और शहरी इलाकों में ऐसे लोगों को बिजनेस लोन, प्रदान किया जाता है। जो लोग खादी के कपड़ों का कारोबार करने के लिए इंट्रेस्टेड होते हैं।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि खादी ग्रामोद्योग आयोग के तहत लिया जाने वाले बिजनेस लोन पर प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 15-35% तक की सब्सिडी मिलती है।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) के तहत सब्सिडी देने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 2,327 करोड़ रुपये का प्रावधान बजट 2019-20 में किया गया है।

खादी ग्रामोद्योग आयोग और प्रधानमंत्री रोजगार कार्यक्रम के तहत मिलने वाला बिजनेस लोन और बिजनेस लोन पर मिलने वाली सब्सिडी को समझने के लिए हमें दोनों के बारे में समझना होगा।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम क्या है?

पीएमईजीपी को अगर एक लाइन में समझना हो, तो इसे हम “बिजनेस करने के लिए सरकार से लोन मिलता है और उस लोन पर सब्सिडी मिलती है।” लेकिन प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के बारे में सिर्फ इतना कह देना पर्याप्त नहीं होगा।

अगर कोई व्यक्ति अपना खुद का बिजनेस शुरु करना चाहता है, तो उस व्यक्ति को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 10 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन प्राप्त हो सकता है।

हालांकि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत अगर कोई व्यक्ति अपना खुद का बिजनेस शुरु करना चाहता है। और बिजनेस का बजट 10 लाख रुपये तक का है तो उस व्यक्ति को कुल बजट का 10% हिस्सा खुद से मैनेज करना होगा।

10% हिस्सा यानी 1 लाख रुपये व्यक्ति खुद से लगाएगा और बाकी 90% यानी 9 लाख रुपये उसे पीएमईजीपी के तहत बिजनेस लोन के रुप में मिल सकता है।

पीएमईजीपी के तहत मिलने वाला बिजनेस लोन दो कैटेगरी में विभाजित है:

सर्विस सेक्टर में बिजनेस करने के लिए पीएमईजीपी लोन

अगर कोई व्यक्ति सर्विस सेक्‍टर से जुड़ा बिजनेस करना चाहता है तो उसे प्रधानमंत्री रोजगार कार्यक्रम के तहत 15 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन मिल सकता है।

PMEGP के तहत मैन्‍युफैक्‍चरिंग का कारोबार शुरु करना

अगर कोई व्यक्ति मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट लगाने के लिए लोन लेना चाहते है तो उसे प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 25 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है।

पीएमईजीपी में इतना मिलती है सब्सिडी

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 15% से 35% तक की सब्सिडी मिलती है। हालांकि सब्सिडी भी कुछ कैटेगरी के तहत मिलती है:

अगर कोई व्यक्ति सामान्य कैटेगरी का है और वह शहरी क्षेत्र में बिजनेस शुरु करना चाहता है, तो उसे प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 15% तक सब्सिडी मिलती है।

सामान्य कैटेगरी का व्यक्ति अगर ग्रामीण इलाके में बिजनेस शुरु करना चाहता है, इसे 25% तक सब्सिडी मिलती है।

वही, व्यक्ति एससी/एसटी, महिला, पूर्व सैनिक, दिव्यांग या पहाड़ी इलाके से हैं तो सब्सिडी मिलने का क्रम बदल जाता है और 35% तक सब्सिडी मिलने लगता है। यानी अगर आप इस कैटेगरी में आते हैं और पीएमईजीपी के तहत 10 लाख का बिजनेस लोन लेते हैं, तो आपका 3 लाख 50 हजार लोन सब्सिडी के रुप में माफ़ हो जाता है।

केवीआईसी पीएमईजीपी योजना के बारे में जानिए

आपको जानकारी के लिए बता दें कि केवीआईसी यानी खादी ग्रामोद्योग आयोग कोई अलग योजना नहीं चला रहा है। बल्कि केवीआईसी उसी योजना को आगे बढ़ा रहा है, जो प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना है।

खादी ग्रामोद्योग आयोग द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 2020 तक 14 लाख नये रोजगार सृजन का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए मोदी सरकार द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के लिए बजट 2019-20 में 2,327 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

इस तरह देखा जाय तो, केन्द्र सरकार द्वारा वह सभी प्रयास किया जा रहा है, जिससे देश में उद्योग / बिजनेस बढ़े ताकि अधिक से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त हो सके।

देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी यानी एनबीएफसी – ZipLoan द्वारा भी यह प्रयास किया जा रहा है की देश के कारोबारियों को अपना बिजनेस चलाने में किसी तरह की आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े।

देश के एमएसएमई कारोबारियों को आर्थिक समस्या से बचाने के लिए ZipLoan द्वारा एमएसएमई कारोबारियों को 5 लाख तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में दिया जाता है। आइये जाते हैं कि ZipLoan से बिजनेस लोन लेने पर और क्या लाभ मिलता है।

ZipLoan से मिलता है 5 लाख तक का बिजनेस लोन

नॉन बैंकिंग फाइनेशियल कंपनी ZipLoan द्वारा इस बात का ध्यान रखा जाता है की कारोबारियों को जब धन की जरूरत हो, तो उन्हें धन मिलने में अधिक समय न लगे, इसीलिए ZipLoan द्वारा कारोबारियों को सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन दिया जाता है।

ZipLoan देश में प्रमुख ऐसी फिनटेक कंपनी है जिससे कारोबारियों को सिर्फ दिन* में 5 लाख तक का बिजनेस लोन दिया जाता है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि ZipLoan द्वारा अधिक से अधिक कारोबारियों को लोन देने के लिए बहुत आसान पात्रता मापदंड बनाया गया है। साथ ही बेहद कम कागजी दस्तावेजों की मांग की जाती है। निम्न कागजातों की जरूरत पड़ती है:

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की पात्रता

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदें

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?