SFURTI स्कीम – फंडिंग व उद्देश्य

पारंपरिक उद्योग के उत्थान एवं विकास के लिए सरकारी फंड योजना के तौर पर SFURTI योजना 2005 में शुरू की गई थी। SFURTI स्कीम, भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा शुरु की गई योजना है। 

इस योजना के तहत बांस, खादी और शहद जैसे ग्रामीण एमएसएमई उद्योग में काम करने वाले कारीगरों की क्षमता और कौशल विकास क्लस्टर बनाकर करना शामिल है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि, यह किसी कार्यक्षेत्र को तेजी प्रदान करने वाली योजना है। 

स्फूर्ति योजना के तहत बांस, खादी और शहद जैसे एमएसएमई उद्योग में काम करने वाले कारीगरों को ट्रेनिंग और कारीगर एक्सचेंज यानी एक उद्योग के कारीगरों को किसी दूसरे उद्योग में काम सीखने के लिए भेजा जाता है।

ताकि, कारीगर दूसरे अन्य समूहों में काम करने के तौर तरीकों को सीख सकें। इससे कारीगरों में बेहतर कौशल और अधिक क्षमताओं का विकास हो सकेगा। आपको जानकारी के लिए बता दें कि नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल बैंकिंग सेक्टर की प्रमुख कंपनी ZipLoan भी एमएसएमई की आर्थिक सहयोग कर रही है। 

एनबीएफसी ZipLoan द्वारा एमएसएमई कारोबारियों को बिजनेस बढ़ाने के लिए और अपने कारीगरों को और अधिक कुशल बनाने के लिए 7। 5 लाख तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिन में, बिना कुछ गिरवी रखे प्रदान किया जाता है। आइये विस्तार से समझते हैं कि स्फूर्ति योजना क्या है?

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

Icon1

न्यूनतम कागजात

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं है

Icon4

प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री

6 EMI का भुगतान करने के बाद

Icon3

सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

रकम आपके बैंक खाते में

SFURTI स्कीम क्या है?

स्फूर्ति योजना की शुरुवात 2005 में हुई है। यह योजना सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय यानी एमएसएमई मिनिस्ट्री द्वारा संचालित की जाती है। इस योजना लक्ष्य ग्रामीण एमएसएमई के कारीगरों को और अधिक कुशल बनाना है।

बजट सत्र 2019 में 5 जुलाई को देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारामण ने अपने पहले बजट भाषण में कहा कि कृषि-ग्रामीण औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सरकार स्फूर्ति (SFURTI) योजना के तहत बांस, खादी और शहद पर ध्यान देने के साथ समूह (क्लस्टर) आधारित विकास पर सरकार का जोर है। 

SFURTI स्कीम के तहत वर्ष 2019-20 में 100 नए क्लस्टर बनाए जाने की घोषणा हुई है। इस घोषणा के तहत करीब 50 हजार हस्त कारीगरों (हस्तशिल्पियों) को रोजगार मिलने की संभावना है। वित्त मंत्री के घोषणा के बाद से ही यह योजना एक बार फिर से चर्चा में आ गई है।

पारंपरिक ग्रामीण उद्योगों के लिए सतत विकास, रोजगार और शासन प्रणाली को मजबूत करने के लिए स्फूर्ति योजना को शुरू किया गया था। इस योजना में बेहतर उपकरणों, उपकरणों और मार्केटिंग के बुनियादी ढांचों को मुहैया कराने की मांग की गई है।

SFURTI स्कीम का उद्देश्य क्या है?

स्फूर्ति योजना का उद्देश्य निम्न है:

  • पारंपरिक ढंग से काम कर रहे उद्योगों और उनके कारीगरों को अधिक कुशल बनाना और उनके अंदर प्रतियोगी भावना का विकास करना। ताकि वह अधिक बेहतर काम कर सकें।
  • पुराने जमाने के उद्योगों को आर्थिक तौर पर स्थिरिता प्रदान करना।
  • इस बात का ध्यान रखना कि पारंपरिक उद्योगों में कारीगरों और ग्रामीण उद्यमियों के लिए निरंतर रोजगार प्रदान उपलब्ध रहे।
  • ग्रामीण उद्योगों के प्रोडक्ट की डिजाइन, ब्रांडिंग और मार्केटिंग की व्यवस्था करना।
  • परम्परागत ग्रामीण उद्योगों में करीगरों के लिए ट्रेनिग और कारीगर एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत पारंपरिक कारीगरों के कौशल और क्षमताओं का विकास करना।
  •  से लैस करने के लिए;
  • कारीगरों के लिए बेसिक उपकरणों और सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करना।
  • ग्रामीण उद्योगों के हितधारकों के लिए शासन प्रणाली द्वारा अवसरों की उपलब्धता सुनिश्चित करना।
  • ग्रामीण उद्यमियों को इस बात के लिए तैयार करना कि वह चुनौतियों और अवसरों का सामना करने में सक्षम हों सकें।
  • पारम्परिक उद्योगों के लिए नवीन कौशल, बेहतर टेक्नोलॉजी और बाजार तक पहुंचने का नए मॉडल प्रदान करने में मदद करना।
  • ग्रामीण उद्योगों के लिए ऐसे क्लस्टर की पहचान करना जहां पर कारीगरों को कौशल विकास और क्षमता का विकास के लिए आदान – प्रदान किया जा सके।

 

SFURTI स्कीम का लाभ किसे मिल सकता है?

स्फूर्ति योजना में निम्न लोगों को लाभ प्राप्त हो सकता है:

आदि के साथ ग्रामीण उद्योग कार्यान्वयन करने वाली एजेंसियां, सरकारी संस्थान / संगठन और नीति निर्माताओं के क्षेत्र कार्यवाहक, जो सीधे पारंपरिक उद्योगों में लगे हुए है, को भी को स्फूर्ति योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है।

स्फूर्ति योजना के तहत कितना फंड मिलता है?

किसी भी विशेष प्रोजेक्ट के लिए अधिकतम 8 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जा सकती है। SFURTI स्कीम के तहत सॉफ्ट, हार्ड और थीमैटिक इंटरवेंशन के लिए निम्न फंड देने की व्यवस्था की गई है: 

यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि उत्तर पूर्वी क्षेत्र / जम्मू और कश्मीर और पहाड़ी राज्यों के लिए, प्रति क्लस्टर कारीगरों की संख्या में 50% की कमी मान्य है। 

ZipLoan से मिलता है 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिन में 

नॉन बैंकिंग फाइनेशियल कंपनी ZipLoan द्वारा कारोबारियों की सुविधा के लिए 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिन* में, बिना कुछ गिरवी रखे दिया जाता है। ZipLoan द्वारा अधिक से अधिक कारोबारियों को लोन देने के लिए बहुत आसान पात्रता मापदंड बनाया गया है। बिजनेस लोन की पात्रता निम्न है: 

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की पात्रता

बिजनेस लोन के लिए जरूरी कागजात 

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदें 

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?