पोल्ट्री फार्म बिजनेस प्लान

पोल्ट्री फार्म का बिजनेस चलाना वर्तमान समय में एक लाभकारी बिजनेस है इस बिजनेस में मुनाफा बेहिसाब होता है हालांकि, इस बिजनेस को चलाने के लिए थोड़ा धैर्य और अधिक मेहनत करने की जरूरत होती है इसे हम इस तरह भी कह सकते हैं कि पोल्ट्री फार्म का बिजनेस को सही तरीके से किया जाये तो इसमें बेहतर मुनाफा संभव है

जहां तक पोल्ट्री फार्म बिजनेस में धन के इन्वेस्टमेंट की बात है तो पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने के लिए धन की आवश्यकता फार्म की प्रकृति और आकार पर निर्भर करता है पोल्ट्री फार्म का बिजनेस छोटे स्तर से लेकर बड़े स्तर तक किया जाता है सबसे खास बात यह है कि पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने के लिए सरकार की तरफ से आर्थिक मदद बिजनेस लोन के रुप में होती है

इसी के साथ आपको जानकारी के लिए बता दें कि बिजनेस का विस्तार करने के लिए देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी ‘ZipLoan’ की तरफ से भी 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में दिया जाता है

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

logo
बेहद कम कागजी दस्तावेज प्रक्रिया

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं

logo
बिना कुछ गिरवी रखें

10 लाख सालाना टर्नओवर कारोबार के लिए

logo
सिर्फ 3 दिन के भीतर लोन मिलेगा

घर बैठे आपके बैंक अकाउंट में

logo
6 महीने बाद प्री-पेमेंट फ्री

आसान किश्तों में वापस करें

पोल्ट्री फार्म का बिजनेस 2 तरह का होता है

भारत सहित पूरी दुनिया में मुर्गे का मांस और मुर्गी का अंडा बहुत अधिक मात्रा में भोजन के तौर पर खाया जाता है इसी के साथ यहां यह स्पष्ट हो जाता है कि पोल्ट्री का बिजनेस मुख्य रुप से दो तरह का होता है

  1. मांस का बिजनेस
  2. अंडे का बिजनेस

जब कोई व्यक्ति पोल्ट्री का बिजनेस शुरु करता है तो उसके सामने यह दोनों विकल्प होता है कि वह चाहे तो मुर्गे की मांस और मुर्गी के अंडा का कारोबार कर सकता है लेकिन, बहुत मामलों में यह देखने को मिलता है कि लोग एक समय में एक ही पोल्ट्री का बिजनेस करते हैं

एक विकल्प चुनने के पीछे कई कारण होते हैं इन कारणों को में लागत और रख – रखाव के लिए अलग से लागत लगना शामिल है जब कोई व्यक्ति मुर्गे की मांस बेचने के लिए पोल्ट्री फार्म लगाता है तो उनकी सबसे बड़ी चुनौती होती है- चूजों को किसी तरह के संक्रमण से बचाते हुए मांस के लिए तैयार करना

वहीं जब अंडा उत्पादन के लिए पोल्ट्री फार्म लगाया जाता है तो यहां सबसे बड़ी चुनौती होती है- मुर्गियों को उचित पोषणाहार करना ताकि मुर्गियां एक समय के बाद अंडों का उत्पादन शुरु हो सके जब अंडों का उत्पादन शुरु हो जाता है तो फिर अंडों के रख – रखाव और ट्रांसपोर्टेशन के लिए उचित व्यवस्था करना होता है

पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे शुरु हो सकता है?

मुर्गा / अंडा का पोल्ट्री फार्म शुरु करने के लिए सबसे पहले यह निश्चित करना होता है कि पोल्ट्री फार्म अंडे का शुरु करना है या मांस के लिए मुर्गियां तैयार करना है इस सवाल का उत्तर जिस व्यक्ति ने ढूढ़ लेता है, उसको पोल्ट्री फार्म शुरु करने के लिए निम्न चरणों से गुजरना होता है

पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने से क्या हासिल होगा?

पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने के लिए पैसों का इंतजाम कहां से हो सकता है?

वर्तमान केन्द्र सरकार का जोर इस बात पर है कि लोग अधिक से अधिक संख्या में स्वरोजगार करें जितनी अधिक संख्या में लोग स्वरोजगार करेंगे उतने ही अधिक संख्या में रोजगार सृजन होगा जब रोजगार सृजन होगा तो देश में बेरोजगार घटेगी

इसीलिए भारत सरकार द्वारा योजना चला कर स्वरोजगार करने की चाहत रखने वाले लोगों को आर्थिक मदद की जा रही है सरकार द्वारा बैंकों को आदेश दिया गया है कि उनके पास अगर कोई व्यक्ति स्वरोजगार करने के लिए लेने आये तो बैंक उनकी मदद करें

इसी क्रम सरकार द्वारा पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने के लिए भी लोन योजना भी शुरु की गईं है इन लोन योजनाओं में पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने के लिए कुल लागत का 90 प्रतिशत धन लोन के तौर पर मुहैया कराया जाता है जिन बैंकों से पोल्ट्री फार्म का बिजनेस शुरु करने के लिए बिजनेस लोन मिलता है, उनका विवरण निम्न है

पोल्ट्री फार्म के लिए इन बैंकों से लोन मिलता है

इन बैंकों से लोन प्राप्त करने या अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए बैंकों की वेबसाइट लॉग इन ( ओपन करें)

पोल्ट्री फार्म के लिए कितना धन लोन के तौर पर मिल सकता है?

मुर्गी पालन का बिजनेस छोटे स्तर पर भी होता है और बड़े स्तर पर भी होता है ऐसे में बैंक से लोन से आर्थिक सहायता के तौर पर मिलने वाली लोन की राशि पोल्ट्री फार्म के आकार पर निर्भर होती है हालांकि बैंकों की तरफ से कहा जाता है कि नया पोल्ट्री फार्म लगाने में आने वाली कुल लागत का 75% हिस्सा लोन के तौर पर मिल सकता है यह टर्म लोन की कैटेगरी में शामिल होता है

एसबीआई से पोल्ट्री फार्म के लिए विशेष लोन दिया जाता है स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से पोल्ट्री का नया बिजनेस शुरु करने के लिए और पुराने बिजनेस का विस्तार करने के लिए लोन बहुत आसानी से दिया जाता है आपको जानकारी के लिए बता दें कि एसबीआई से पोल्ट्री फार्म शुरु करने में लगने वाली कुल लागत का 75% तक हिस्सा या अधिकतम 9 लाख रुपये लोन के तौर पर देने का प्रावधान है

बिजनेस बढ़ाने के लिए ZipLoan से मिलता है 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन

देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी – एनबीएफसी ZipLoan का प्रयास है कि छोटे और मध्यम कारोबारी बिना किसी टेंशन के अपने बिजनेस पर ध्यान दें और सिर्फ अपने मुनाफ़े के बारे में सोचे। पैसों के इंतजाम के में तो तनिक भी न सोचे। इसी लिए ZipLoan द्वारा छोटे एवं मध्यम कारोबारियों को 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में प्रदान किया जाता है

अगर कोई व्यक्ति 2 साल से अधिक समय से पोल्ट्री बिजनेस चला है और अब उन्हें लगता है कि उन्हें अपना बिजनेस बढ़ाना चाहिए लेकिन, धन की कमी के चलते वह अपना बिजनेस बढ़ाने में असमर्थ साबित हो रहे हो तो अब घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है क्योंकि, बिजनेस बढ़ाने के लिए ZipLoan से मिल सकता है 7.5 लाख तक का बिजनेस, सिर्फ 3 दिन* में और वह भी बिना कुछ गिरवी रखे

ZipLoan से बिजनेस लोन प्राप्त करने की पात्रता

ZipLoan से बिजनेस लोन प्राप्त करने के लिए जरूरी कागजात

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदें

ICICI-Prudential-Internal-page

बुनियादी समस्याओं का हल

राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया क्योंकि ZipLoan को लोन के बदले कुछ गिरवी रखने की जरूरत नही थी। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?