प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना पंजीकरण - कौन कर सकता है आवेदन?

कौशल विकास प्रशिक्षण योजना एक ऐसी योजना है जिसमे उन युवाओं को वोकेशनल ट्रेनिंग दी जाती है जो किसी विधा में कुशलता प्राप्त करके रोजगार पाना चाहते हों।

आपको बता दें कि जो युवा कौशल योजना – PMKVY HINDI का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना पंजीकरण कराना होता है। आइये जानते हैं कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना पंजीकरण कैसे होता है।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

logo
बेहद कम कागजी दस्तावेज प्रक्रिया

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं

logo
बिना कुछ गिरवी रखें

5 लाख सालाना टर्नओवर कारोबार के लिए

logo
सिर्फ 3 दिन के भीतर लोन मिलेगा

घर बैठे आपके बैंक अकाउंट में

logo
6 महीने बाद प्री-पेमेंट फ्री

आसान किश्तों में वापस करें

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMMVY in Hindi)

भारत की कुल जनसँख्या एक सौ तीस करोड़ से अधिक है। जनसँख्या का यह आंकड़ा भारतीय जनगणना 2011 के अनुसार है। जनसँख्या में मामले भारत विश्व में दूसरा सबसे बड़ा देश है।

अब इतनी बड़ी जनसँख्या वाले देश में रोजगार की स्थिति पर बात करें तो लगभग तिहाई जनसँख्या बेरोजगार है। देश में बेरोजगारी का सबसे बड़ा कारण यहां रोजगारपरक शिक्षा/प्रशिक्षण की कमी का होना है।

ऐसे में क्या यह मानकर नही चल सकते हैं कि यह स्थिति हमेशा ऐसी ही रहने वाली है। बेरोजगारी की स्थिति को बदलने के लिए केन्द्र सरकार काफी सचेत है।

केन्द्र में 2014 में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी। प्रधानमंत्री बने श्री नरेंद्र मोदी जी। नरेंद्र मोदी जी का सरकार गठन की शुरुवात से इस बात पर जोर था कि देश में अधिक से अधिक संख्या में स्वरोजगार हो।

स्वरोजगार के पीछे यह कारण है कि जब देश के युवा स्वरोजगार अपनाएंगे तब वह खुद से खुद को रोजगार/नौकरी दे सकते हैं और अपना जीवनयापन कर सकते हैं। केन्द्र सरकार द्वारा युवाओं को स्वरोजगार के प्रोत्साहित करने के लिए मुद्रा लोन योजना और स्टैंड अप इंडिया लोन योजना जैसे सरकारी लोन योजना भी शुरु की गई है।

स्वरोजगार या रोजगार के लिए वोकेशनल ट्रेनिंग यानी व्यवसायिक प्रशिक्षण की जरूरत को देखते हुए केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना शरू की गई है। आपको बता दें कि कौशल विकास योजना में युवाओं को रोजगारपरक कोर्सों की ट्रेनिंग दी जाती है।

देश के युवाओं को कौशल विकास योजना की तहत वोकेशनल ट्रेनिंग देकर उनको On Job Training - ओजीटी प्रोग्राम में भेजा जाता है। ओजीटी के तहत उन्हें इस सिक्वेंस में जॉब ट्रेनिंग दी जाती है:

  • शार्ट टर्म ट्रेनिंग
  • स्पेशल प्रोजेक्ट
  • कौशल और रोजगार मेला
  • प्लेसमेंट सहायता
  • निरंतर जाँच
  • स्टैण्डर्डटाईज एंड कम्युनिकेशन

इस तरह कौशल विकास सेंटर – (PMMVY in Hindi) में पंजीकरण कराने वाले युवाओं को एक समान्य युवा से किसी एक खास रोजगारपरक ट्रेनिंग में ट्रेंड किया जाता है। वोकेशनल ट्रेनिंग प्राप्त युवा को नौकरी मिलने में आसानी हो जाती है। आइये समझते हैं कि कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र - प्रधानमंत्री कौशल विकास सेंटर में पंजीकरण यानी रजिस्ट्रेशन कैसे होता है।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना पंजीकरण कैसे होता है?

कौशल विकास कोर्स में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए विद्यार्थियों को अपने आस – पास उस वोकेशनल कोर्स ट्रेनिंग सेंटर के बारे में पता लगाना चाहिए जहां पर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना – PMKVY के तहत ट्रेनिंग प्रदान की जा रही हो।

जब विद्यार्थी कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र (ट्रेनिंग सेंटर) सलेक्ट कर लें तब दूसरी और सबसे महत्वपूर्ण बात होती है वोकेशनल कोर्स का चयन करना। आप यह पता करें कि आप जिस वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर से ट्रेनिंग लेने जा रहे हैं वहां पर किस – किस कोर्स की ट्रेनिंग दी जाती है।

जब वोकेशनल ट्रेनिंग कोर्स की लिस्ट मिल जाये तो अब आपको उस कोर्स को सलेक्ट करना होता है जिसकी ट्रेनिंग आप करना चाहते हैं। अपने पसंददीदा कोर्स के बारें में अपने वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर को बताएं और सेंटर पर कहें कि आपका कौशल विकास प्रशिक्षण योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कराना है।

बुनियादी समस्याओं का हल

star star star star star
राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

star star star star star
कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया क्योंकि ZipLoan को लोन के बदले कुछ गिरवी रखने की जरूरत नही थी। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 5 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?