प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है

देश के युवाओं को हुनरमंद और स्वरोजगार से जोड़ने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMMVY) चलाई जा रही है। कौशल विकास योजना की शुरुवात 2015 में हुई है।

आपको बता दें कि इस योजना का लक्ष्य 2020 तक देश के एक करोड़ युवाओं को प्रशिक्षित (ट्रेंड) कर रोजगार और स्वरोजगार के लिए तैयार करना है।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है?

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में उन युवाओं को रोजगारपरक (वोकेशनल) ट्रेनिंग देने का दी जाती है जो कम पढ़े – लिखे है या किन्हीं कारणों से अपनी अपनी पढ़ाई छोड़ चुके हैं।

ऐसे युवाओं को वोकेशनल ट्रेनिंग के जरिये रोजगार से जोड़ने का कार्य कौशल विकास केन्द्र के जरिये किया जा रहा है।

कौशल विकास योजना की वेबसाइट के अनुसार आकंड़ों की बात करें तो कुल इनरोल्ड कैंडिडेट की कुल संख्या 2760580 है। जिन कैंडिडेट की ट्रेनिंग चल रही है उनकी संख्या है 67943।

जिन कैंडिडेट की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है उनकी संख्या 269263 है। जिन कैंडीडेट का असेसमेंट कम्पलीट हो चुका है उनकी संख्या 21525000 है और जो कैंडीडेट पास हो चुके है उनकी कुल संख्या 2010259 है।

इस तरह देखें तो एक बड़ी संख्या में युवाओं को वोकेशनल यानी रोजगारपरक ट्रेनिंग प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के द्वारा प्रदान किया जा रहा है।

आपका बिजनेस कितना पुराना है?
पिछले साल की बिक्री ?
प्रथम नाम
अंतिम नाम
मोबाइल नंबर
अपने शहर का नाम दें

instant business loan

Ziploan व्यवसायों के लिए लोकप्रिय लोनदाता है।

logo
बेहद कम कागजी दस्तावेज प्रक्रिया

बैलेंस शीट की जरूरत नहीं

logo
बिना कुछ गिरवी रखें

5 लाख सालाना टर्नओवर कारोबार के लिए

logo
सिर्फ 3 दिन के भीतर लोन मिलेगा

घर बैठे आपके बैंक अकाउंट में

logo
6 महीने बाद प्री-पेमेंट फ्री

आसान किश्तों में वापस करें

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में ट्रेनिंग लेने की योग्यता?

अब तक आपने जाना कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है अब आइये समझते हैं कि प्रधानमंत्री कौशल योजना के तहत ट्रेनिंग लेने के लिए क्या योग्यता चाहिए होता हो:

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है? – ट्रेनिंग के लिए योग्यता (Eligibility)

  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के लिए हर भारतीय युवा योग्य हैं।
  • इस योजना का लाभ कोई भी युवा उठा सकता है।
  • प्रधानमंत्री कौशल योजना का लाभ कक्षा 10वीं पास – फेल से लेकर स्नातक पास – फेल तक के अभ्यार्थी उठा सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री कौशल योजना का लाभ लेने के लिए अभ्यर्थी का बेरोजगार होना चाहिए। अगर कोई युवा अनस्किल्ड कार्य कर रहा हो तो भी वह इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  • कौशल विकास योजना में अभार्थी को रोजगारपरक ट्रेनिंग दी जाती जाती है। असेसमेंट में पास होने पर कौशल विकास का सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है। यह सर्टिफिकेट लाभार्थी को नौकरी मिलने में मदद करता है।

आपको बता दें कि जब कोई भी यूथ स्किल्ड ट्रेनिंग ले रहा होता है तो उसे कौशल विकास की जानकारी पूर्ण रुप से दी जाती है। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना रजिस्ट्रेशन होने के बाद ही इस योजना का लाभार्थी लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ जरूरी कागज़ी दस्तावेज की जरूरत पड़ती है। आइये जानते हैं कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना रजिस्ट्रेशन के लिए किस – किस कागज़ी दस्तावेज की जरूरत पड़ती है।

  • आधार कार्ड
  • न्यूनतम कक्षा 10वीं का पास – फेल का प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र (अगर कैटेगरी का लाभ उठाना चाहते हैं तब)
  • पिता का आय प्रमाण पत्र

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में रजिस्ट्रेशन कैसे होता है?

प्रधानमंत्री Kaushal Vikas Yojana में रजिस्ट्रेशन के लिए आपको सबसे पहले अपने नजदीकी किसी ऐसे कौशल विकास केन्द्र के बारे में पता करना पड़ेगा जो जिसे भारत सरकार से मान्यता प्राप्त हो। 

जब आप कौशल विकास केन्द्र की खोज कर लेते हैं तो इसके बाद का स्टेप आपका होना चाहिए कि यह पता लगायें की जो कौशल विकास केन्द्र आपने खोजा है उस केन्द्र पर जो कोर्स आप करना चाहते हैं वह कोर्स चलाया जाता है या नही।

जब आपको यह जानकारी मिल जाये कि जो कोर्स आप करना चाहते हैं वह कोर्स उस कौशल केन्द्र पर चलता है तो अब आपको कौशल विकास केन्द्र को खुद को रजिस्टर्ड कराना होगा।

प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र में रजिस्ट्रेशन के लिए आपको कौशल केन्द्र जाना होता है और वहां मांगी गई जानकारी देना होगा और इसके बाद आपको एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होता है। बस आपका हो गया प्रधानमंत्री कौशल विकास में रजिस्ट्रेशन।

प्रधानमंत्री कौशल विकास का फायदा क्या है?

सरकार की नजरिये से बात करें तो अगर युवा कुशल यानी किसी काम में ट्रेंड होगा तो उसे रोजगार की दिक्कत नही होगी।

कंपनियों में भी ट्रेंड लोगों की भारी मांग होती है। इस तरह देश में में बेरोजगारी की समस्या तो समाप्त होगी ही साथ ही स्वरोजगार का भी विकल्प खुलता जायेगा।

केन्द्र सरकार द्वारा बिजनेस लोन की कई ऐसी योजना चलाई जा रही हैं जिनमे कारोबार शुरु करने की चाहत रखने वाले युवाओं को बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे दिया जा रहा है।

कारोबार शुरु करने के लिए बिजनेस लोन देने में मुद्रा लोन योजना प्रमुख है। मुद्रा लोन योजना में 10 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे दिया जाता है। इस तरह देखें तो रोजगार के साथ – साथ स्वरोजगार का भी ऑप्शन खुलता है।

इसे भी देखें:

क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम (CGTMSE) क्या है

स्टैंड अप इंडिया स्कीम क्या है?

 

बुनियादी समस्याओं का हल

star star star star star
राम यादव

मैं बारह वर्षों से अपना कारोबार चला रहा हूं लेकिन अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए सक्षम नहीं था। मैंने Ziploan में आवेदन किया और उन्होंने मेरे लोन आवेदन को बहुत ही कम समय में मंजूरी दे दी।

star star star star star
कंचन लता

मैंने अपने कारोबार की ज़रूरतों के लिए ZipLoan से संपर्क किया क्योंकि ZipLoan को लोन के बदले कुछ गिरवी रखने की जरूरत नही थी। कंपनी से लोन पाने की शर्तें पूरा करना आसान था। उन्हें सिर्फ 1 साल का ITR और बिजनेस का सालाना टर्नओवर 5 लाख तक की जरूरत थी।

क्या आप भी ZipLoan के मदद से अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए तैयार हैं?